अकरम ने मीरा भाबी को छोदा

ये मेरी पहली स्टोरी हे,स्टोरी बताने से पहले मैं अपने बारे में बता देता हु,नाम अकरम,उम्र 35 साल, हाइट 5’5″,फेयर कलर, अच्छी बॉडी हैं ,मैं अलाहाबाद का रहने वाला हूँ और वेस्टबंगाल मैं एक प्राइवेट कंपनी मैं मैनेजर की जॉब करता हूँ। टाइम वेस्ट न करते हुए मैं सीधा स्टोरी पर आता हु ,बात ३ साल पहले की हे जब मैं कुछ टाइम स्पेंट करने के लिए ट्रैन से अपने घर आ रहा था, स्लीपर में मेरी साइड लोअर बर्थ थी , उसी ट्रैन में एक बंगाली फैमिली सफर कर रही थी, जिसमे एक पुरुष (नाम – गोपाल , उम्र 47), उसकी पत्नी (नाम -मीरा, उम्र 37 ) और उनकी बेटी (नाम -सोनम, उम्र 17) . मेरी उनसे काफी जानपहचान हो गयी थी क्यूंकि पूरी फैमिली बहुत खुले विचारो वाली थी , मेरी उनसे खाफी बातचीत व मजाक – वजाक हुआ , मेने पूरी फैमिली के सात सेल्फ़ी व् फोटो लिए और वाट्सअप नम्बर वगेरा एक्सचेंज किये। मेरी तीनो से ही अछि दोस्ती हो गयी थी, तो मेने एक दिन वात्सप्प पर मीरा जी से अपने मकान मालिक की दवारा परेशान किये जाने की बात बता दी, तो उन्होंने मुझसे कहा की अरे अकरम जी आप हमारे रहते फालतू मे परेशान हो रहे हैं हमरे घर मे ऊपर का कमरा बिलकुल खली पड़ा हे आप वहा रह लीजिये ,मेने कहा पर गोपालजी नहीं मांगे तो वो बोली की उनकी टेंशन तुम मत लो,मीरा जी के मानाने पर उनके पति भी जल्दी ही मान गए, क्योंकि उनको ट्रैन ने ही मेरे अच्छे नेचर के बारे ने पता चल गया था । अब मे उनके ही घर मे ऊपर के कमरे मे रहने के लिए पहुंच गया, उन्होंने मुझे ऊपर का कमरा दे दिया, उस कमरे मे कोई कियचं और बाथरूम नहीं था , तो मेने गोपालजी से बोला की मे खाना कहा बनाऊंगा तो वो बोलके अरे आप खाने की टेंशन मत लीजिये, मीरा ही तुम्हारे लिए खाना बना दिया करेगी, और मीरा ने भी तुरंत बोला की मुझे एक एक्स्ट्रा इंसान का खाना बनाने मे कोई दिकत नहीं होगी । मे भी खाफी नानुकर करने के बाद मान गया आखिर फिरी का कोण नहीं खाना छाएगा । दोपहर के एक बजे तक सोनम भी स्कूल से घर आ गयी , वो स्कूल की ड्रेस मे खाफी हॉट लग रही थी (वैसे तो मेरा दिल उसपे पहली मुलकात मे ही आ गया था ), क्या कमाल का फिगर था उसका यारो (३२-28 -३२ ), और स्कूल की छोटी स्कर्ट से झांकते हुए उसकी दूध जैसी टांगे व स्कूल शर्ट मे खिचाव पैदा करते उसके जवान चूजे मेरी पेंट मे तनाव पैदा कर रहे थे। अपने तम्बू को उनकी नजरो से बचाने के लिए मे ये बोलकर अपने रूम मे निकल लिया की थोड़ी रूम की सेटिंग कर लेता हूँ, और रूम मे पहुंचकर सोनम की जवानी को याद करके २ बार मुठ मारी । शाम को सोनम मेरे रूम मे खाना लेकर आई तो टाइट ब्लैक जीन्स और ग्रीन टॉप मे वो बड़ी ही मासूम और हॉट लग रही थी , जैसे ही वो खाना देके जाने की लिए मुड़ी मेने उसे थोड़ी देर बैठकर अपने बारे मे बताने को कहा , उसने बताया की वो 11th क्लास की स्टूडेंट हे , फिर मेने उससे BF के बारे मे पूछा तो वो शर्मा गयी , फिर उसने बहुत जोर देने पर बताया उसका कोई BF नहीं हैं क्यूंकि मम्मी -पापा बहुत ही स्ट्रिक्ट हैं, मैं बोला की इतनी बड़ी हो गयी हो कभी मन किया बनाने का तो वो शर्मा गयी और मेरी बात sunke निचे भाग गयी ,मेने भी उसको नहीं रोका क्यूंकि उसके माँ-डैड वेट कर रहें होंगे । मे खाना खाके सो गया और अगले दिन मुझको जॉब पर नहीं जान था क्यूंकि मेरी अधिकतर टाइम रात की शिफ्ट होती हे । अगले दिन गोपालजी 8 बजे ही जॉब पर निकल गए और ९ बजे तक सोनम भी निकल गयी और मे भी नास्ता करके अपने रूम मे जेक गेम खेलने लगा, सबके चले जाने के बाद भाभीजी आई और बोलिकी क्या कर रहे हो , तो मेने बोल दिया की गेम खेल रहा हूँ , तो वो बोलिकी हमें नहीं खिलोगे, तो मेने कंट्रोल बताके उनके हाट मे थमा दिया , पर उनके कुछ पल्ले नहीं पड़ा , तो उन्होंने मुझको ही वापिस पकड़ा दिया, और मुझे खेलता हुआ देखने के लिए बिलकुल मुझसे सत्कार बैठ गयी , और जब मे गेम खेल रहा था तो वो धीरे से अपना हाथ मेरी जांगो पर फिरने लगी , मेने नजर घुमा कर उनकी और देखा तो वो कतली मुस्कान दे दी, अब मे ठेरा एक जवान मुस्लिम मर्द , हॉट हिन्दू आंटी को देखके मेरे लुनद पदखने लगा ,और मेने सोचा की बेटी की बाद मे ले लूंगा आज उसकी माँ से ही काम चला लेता हूँ , और ये ख्याल आते ही मेने मीरा के होटो पर अपने हॉट रख दिए और उनको जोरो से चूसने लगा , वो तो पहले से ही भूखी थी तो तुरंत ही मेरा सात देने लगी। मेने ज्यादा वक़्त ना जाया करते हुए वंही उसको बेड पैर लेटाके 1 घंटे तक चोदा,चुदाई के बाद मेने उससे पूछा की कैसा लगा तो वो बोली की मजा आ गया , सालो बाद इतनी सही चुदाई हो पायी हे , सोनम के पापा को तो कभी टाइम ही नहीं मिलता ,उस दिन के बाद से मे मीरा भाभी की रोज चुदाई करने लगा|
Abhi beti ki bas pics include kar de raha ….chudayi kese ki wo kisi or din bataunga

Related Post

Share on TumblrTweet about this on TwitterShare on RedditShare on VKShare on Google+Pin on PinterestEmail this to someone
This post was submitted by a random interfaithxxx reader/fan.
You can also submit any related content to be posted here.

2 Comments

  1. ye story poori nahi hai ?

  2. Incomplete story

Leave a comment

Your email address will not be published.


*