मैं बना बीवी का गुलाम पार्ट 3

Part 1
Part 2

ये मेरी कहानी का तीसरा पार्ट है पिछले दो पार्ट में आप मेरी लाइफ कैसे चेंज हो रही थी,मैं एक मर्द से नामर्द,मालिक से गुलाम,पति से नौकर,और ककोल्ड पति बन गया था | मैं चाह कर भी कुछ नहीं कर पा रहा था, बल्कि जितना इससे बचने की कोशिश कर रहा था उतना ही इसके अंदर फसता जा रहा था |
पिछली कहनी में आपने अब तक पड़ा : और फिर इरफ़ान पीछे वाली सीट पर बैठ गया,बेबी को उन्होंने उस से पीछे वाली सीट पर सुला दिया,मैं चुपचाप ड्राइवर की तरह गाड़ी ड्राइव करने लगा और पीछे वाली सीट पर इरफ़ान और मेरी बीवी का असली खेल शुरू हो गया | अब आगे

मैं गाड़ी ड्राइव कर रहा था और पीछे बैठे इरफ़ान ने मेरी बीवी की साथ मस्ती शुरू कर दी | मैं बैक मिरर रिव्यु से देख रहा था | इरफ़ान ने अपने होंठ मेरी बीवी की तरफ बड़ा दिए और मेरी बीवी को जैसे ये ही चाहिए था उसने आगे बढ़ कर इरफ़ान के होंठो को अपने होंठो में फसा लिया और दोनों गहरे लिप किस में डूब गए | अब इरफ़ान उसको होंठो को चुम रहा था और साथ ही साथ एक हाथ से उसने मेरी बीवी के बूब्स को दबाने लगा | मेरी बीवी की मुंह से सिसकिया निकलने लगी | अब मेरी बीवी भी पूरी तरह से मस्त हो रही थी तभी इरफ़ान का दूसरा हाथ मेरी बीवी के चूतड़ों को दबाने लगा | अब मेरी बीवी के होंठ,बूब्स,चूतड़ सब इरफ़ान के कब्जे में थे | तभी इरफ़ान ने मेरी बीवी की जीन्स (पेंट) को उतारने लगा | मेरी बीवी ने एकदम से मेरी तरफ देखा,शिल्पा को मेरी तरफ देखते देख कर इरफ़ान बोला,अरे मेरे छमिया रंडी तू इस गांडू की चिंता मत कर,ये साला चूतिया कुछ नहीं कहेगा | अगर तू बोले तो तेरे से पहले तेरे इस चिकने पति को नंगा कर दू,और जोर जोर से हंसने लगा,उसकी हंसी में मेरी बीवी ने भी उसका साथ दिया और फिर दोनों हंसने लगे |
इरफ़ान : ओये गांडू,गाड़ी साइड में रोक

मैंने चुपचाप गाड़ी को साइड में रोक दिया और याचना भरी नजरो से इरफ़ान की तरफ दखने लगा और उसके आदेश का इंतजार करने लगा |
इरफ़ान,देख रंडी तू इस चूतिये क तरफ देख रही थी,अब तेरा ये चिकना अपनी बीवी की यार की लिए खुद अपनी बीवी को नंगा करेगा,क्यों बे गांडू करेगा न | मैंने हैं में सर हिलाया | तभी इरफ़ान चीखा, तो साले अब किस का इंतजार कर रहा है जल्दी अपनी बीवी की पेंट उतर उसके यार की लिए,| मैं चुपचाप कार से बाहर निकल कर पीछे मेरी बीवी की सीट पर आ गया और उसकी पेंट निचे करने लगा |

मुझे बहुत ही अपमानित महसूस कर रहा था और मेरी बीवी इसका पूरा मज्जा ले रही थी वो बड़े ही प्यार से मेरे बालो को सहला रही थी और साथ ही साथ हंस भी रही थी | जैसे ही मेरी बीवी की पेंट उतरी एक जोर की लात मेरी गांड पड़ पड़ी मैंने आगे गिर गया ,इरफ़ान और मेरी बीवी दोनों फिर हंसने लगे,मेरी बीवी बोली,इरफ़ान जी क्यों तंग करते हो बेचारे को बताया न आपको बहुत कमजोर है मेरे पतिदेव इनका सबकुछ ही कमजोर है,फिर हँसते हुए बोली,क्यों पति जी मैंने कुछ गलत बोला क्या,मैंने शर्म से सर झुका लिया और चुपचाप ड्राइवर सीट पर बैठ गया और गाड़ी चलाने लगा |

मेरी बीवी की प्रिंटेड पैंटी को देख कर पागल हो गया,अब उसने एक हाथ से बीवी की ass को दूसरे हाथ से बूब्स को दबा रहा था | अब मेरी बीवी भी मस्त होकर moaning कर रही थी उसकी मस्ती भरी आहें तेज होती जा रही थी,अब मेरी बीवी खुल कर मस्त हो कर मजे ले रही थी उसे मेरी या ओपन रोड की,दुनियादारी की कोई चिंता नहीं थी | इरफ़ान भी अब पूरी तरह दिरंदा बन चूका था और बहुत ही जोर से बीवी की बूब्स और चूतड़ दबा रहा था और साथ ही साथ रंडी,कुतिया,हिन्दू छिनाल आदि बोल कर गालियाँ निकल रहा था | मेरी बीवी की पैंटी लगातार गीली हो रही थी मैं असहाय से बीवी की गीली पैंटी और ये सब देख रहा था |

शिल्पा : Ahaahaha oooooo इरफ़ान u r too strong dear i love you इरफ़ान,come on
इरफ़ान : अरे रंडी मेरा सब कुछ ही स्ट्रांग है,तेरे को जन्नत का मज्जा मिलेगा |
शिल्पा : हैं इरफ़ान मैं तेरी रंडी हु,मुझे जन्नत का मजा दो,मुझे अपनी कुतिया बना लो |you are so hot dear,ऐसा बोलते हुए शिल्पा ने अपना हाथ इरफ़ान की पेंट की ऊपर रख दिया,हाथ रखते ही वो एकदम से चीखी ऊऊऊऊओ इतना बड़ा wowww
इरफ़ान : रंडी ये मर्द क हथियार है ,तेरे गांडू का नहीं,मर्द का इतना बड़ा ही होता है,आज ये तुझे पूरी तरह से औरत बना देगा |

शिल्पा : हैं इरफ़ान,मुझे औरत बना दो,मुझे असली सुख दे दो | फिर मेरी तरफ देख कर बोली,बलकुल सही कह रहे है इरफ़ान जी,नामर्द है तू गांडू,इरफ़ान जी इसके पास तो मूंगफली है मूंगफली,चल बे बिहार निकल तेरी मूंगफली और ये बोल कर उसने इरफ़ान की लंड को उसकी पेंट से आजाद कर दिया | इतना बड़ा,मेरी तो आँखे ही फटी रह गयी,बिलकुल ब्लू मूवी की स्टार की तरह लगभग 10 इंच का,शिल्पा भी इतना बड़ा और मोटा लंड देख कर पागल हो गयी,और उसे जल्दी जल्दी चूमने लगी | इरफ़ान भी अब मस्तो हो कर चिल्ला रहा था,वाह मेरी रंडी वाह,खुश कर दिया तुमने,तभी मेरे गाल पर एक झानाटेदार थप्पड़ पड़ा, मैं अवाक् रह गया,और हैरानी इस बात की थी की थप्पड़ इरफ़ान ने नहीं मेरी बीवी ने मारा था

शिल्पा : साले नामर्द तूने अभी तक अपनी मूंगफली बाहर नहीं निकाली,हरामजादे एक बार म सुनता नहीं है क्या |
मैं shocked था मेरी बीवी के इस रूप को देख कर,वो मुझ पर हाथ उठाएगी ऐसा मैंने सपने में भी नहीं सोचा था |
मैं शिल्पा की इस रूप से डर गया था फिर विनती भरे शब्दों से बोला,प्लीज शिल्पा ऐसा मत करो,अभी मेरे शब्द मुंह में ही थे की एक और थप्पड़ रसीद हुआ और मेरी बीवी बोली,साले बहनचोद कुत्ते तेरे को एक बार में समझ नहीं आयी मैंने क्या बोला | मैंने डर के मारे जल्दी से अपनी पेंट उतार दी | मेरी छोटी सी लुल्ली,सही मायने में ही मूंगफली,बाहर निकल आयी | जिसे देख कर दोनों हंसने लगे और मैं शर्म से सर झुका कर गाड़ी को आगे बड़ा दिया | शिल्पा अब एक बार फिर से इरफ़ान का लण्ड चूसने लगी और इरफ़ान उसके बूब्स |
शिल्पा :इरफ़ान का लण्ड हाथ में पकड़ कर बोली, देख मेरे चिकने पति ,इसे कहते ही लण्ड और मेरी मूंगफली के साथ तुलना करने लगी,और मेरा मजाक उड़ाने लगी |

शिल्पा पिछले 30 मिनट्स से इरफ़ान का लण्ड चूसे जा रही थी,पर उसका लण्ड था के पानी छोड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था,जबकि मैं उसनी मस्ती भरी आहें सुनकर ही 3 बार झड़ चूका था | अब हमारा कैंप भी पास आ चूका था जिधर हम को रुकना था | पर इरफ़ान अभी तक झड़ा नहीं था,अब इरफ़ान भी मस्त हो कर मेरी बीवी का मुंह चोदे जा रहा था | और मेरी बीवी भी मस्त होकर उसके लण्ड को चूस रही थी और दोनों गर्मागर्म सांसे ले रहे थे, ऐसे लग रहा था की उनकी मंजिल अब नजदीक आ गयी थी | परन्तु अभी असली चुदाई तो बाकी थी |
कहानी जारी रहेगी अगले पार्ट में
अगर आप मेरे साथ बात करना चाहते है तो मेरी kik id shilpa1995 है

Related Post

Share on TumblrTweet about this on TwitterShare on RedditShare on VKShare on Google+Pin on PinterestEmail this to someone
This post was submitted by a random interfaithxxx reader/fan.
You can also submit any related content to be posted here.

Leave a comment

Your email address will not be published.


*