Sexy hindu girls during garba

sexy hindu girls garba raas

raheel khursheed on navratriCame across this pic. The guy on the pic is Raheel Khursheed a musalman he is the twitter head of India. Look what he had to say about Navraatras and Garba festival. Seems like he keeps the condom ready during the festive season. The only thing that came up in his mind was condom. It seems he is getting laid hindu chicks during the festive season, its a fact that there is always a rise in pre-marriage pregnancies during garba season and Raheel wants to be on the safer side.  There are lots of hindu girls who stalk him on twitter and are ready to get laid with him no wonder, he is a handsome musalman with great personality.
garba choli backless tattoobarba choli backlessgarba backless tattoogarba navratri hotgarba backless sexygarba sexgarba backless sareegarba tattoosnavratri hot sexcute hindu girl garba raasdandiya choli backlesshot girl garbasexy hindu girls garbabackless garba dancehindu girl garba

Related Post

Share on TumblrTweet about this on TwitterShare on RedditShare on VKShare on Google+Pin on PinterestEmail this to someone

6 Comments

    • I have a hindu bf and his dick is just 2 inches.
      so a request to all the muslims here show him
      ur dick so that he allows me to have sex wid u
      guys. my bf’s name is dinesh and his kik id
      is dan2230

  1. कुंवारी नेहा की चुदाई , मेरा नाम अयाज़ खान हैं मे एक मुस्लिम फैमिली से हूँ , मेरी ऐज ३० साल हैं। अब आप लोगो को बोर न करते हुए मे स्टोरी पर आता हूँ , हमारा घर एक ब्राह्मण इलाके मे हैं वहा हमको छोड़कर सभी ब्रहिमीन फैमिलीज़ रहती हैं। मेरे पापा के अच्छे सवभाव के कारन हमारी सब फैमिलीज़ से अछि बनती हे और हमारा सब फैमिलीज़ के घर आना जाना रहता हे , हमारे घर के बिलकुल बगल मे ४ लोगो की एक फैमिली रहती हे जिसमे मोहन मिश्रा (६५ साल के एक अंकल ), उनकी वाइफ शिखा मिश्रा (55 ), उनका बेटा और मेरा बचपन का जिगरी दोस्त शिवम मिश्रा (३३) , उनकी बेटी शिवानी मिश्रा(27 )।
    शिवम और मे बचपन के दोस्त थे, साथ -साथ बड़े हुए व् पढ़ाई की , शिवम पढ़ने मे अछा था इसलिए उसको अच्छे कॉलेज मे एडमिशन मिल गया और ग्रेजुएशन के बाद विदेश मे एक अछि जॉब , पांच साल विदेश मे जॉब करने के बाद वो वापस आ गया और एक छोटी सी कंपनी खोल ली, सुरु मे कपनी छोटी थी तो उसको कोई एम्प्लोयी नहीं मिला इसलिए उसने मुझको ३०% का पार्टनर रख लिया। एक साल के बाद हमरी कंपनी ठीक ठाक चल निकली तो हमने एक्सपैंड करने की सोची और लोकल लोगो को जॉब देना स्टार्ट कर दिया तो बहुत सारे हिन्दू लड़को को शिवम ने जॉब पर रखा लिया । हमको कस्टमर सपोर्ट के लिए एक इंग्लिश बोलने वाली लड़की की जरुरत थी तो शिवम ने अपनी कजिन(मौसी की लड़की ) नेहा पाण्डेय (21 साल ) को जॉब पर रख लिया नेहा ने अभी कुछ दिन पहले ही एक लोकल कॉलेज से बीकॉम कम्पलीट किया था और उसकी इंग्लिश बहुत ही अछि थी । मे नेहा को बचपन से ही थोड़ा बहुत जानता था क्योंकि वो कभी न कभी शिवम के घर आती रहती थी। १५ साल की उम्र से ही उसके छोटे -२ चुचे आने स्टार्ट हो गए थे और मे तभी से उसको सोचके मुठ मारा करता था (तब मेरी उम्र २४ साल थी )। हमारा ऑफिस एक छोटे से रूम मे हे और थोड़ी ही दूर पर शिवम और मेने अपने लिए एक रूम ले रखा हे जिसमे हम कभी कभी ओवरटाइम वाले दिनों मे रुख जाते थे। ऑफिस मे नेहा ने अपनी चेयर और टेबल मेरे बगल मे लगा ली थी क्यूंकि वो ऑफिस मे अपने भाई के बाद सबसे ज्यादा मुझको जानती थी , उसका भाई उसको मजाक -२ मे मार देता था इसलिए उसने अपनी टेबल उससे दूर रखी। अब हमारी टेबल ऑफिस के कोने मे थी , मे उससे खाफी बाते करने लगा था और वो मेरे से पहले से भी ज्यादा ओपन हो गयी थी मे उसको खाली टाइम मे इधर -उधर घुमा भी दिया करता था , फ्री खाफी पिला दिया करता था और जब तो वो ऑफिस मे रहती तब तक उसके सात हसी मजाक किया करता था और रात को अपना काम फिनिश किया करता था , मेरे इतना बाते करने से हम बहुत ही करीब आते चले गए , मैं नेहा को बातो मे इतना बीजी रखता था की उसको बॉयफ्रेंड से भी बात करने का टाइम नहीं मिलता था जिससे उसका ब्रेकअप हो गया और वो बहुत रोई , बुरे टाइम मे मेने उसका बहुत सात दिया और उसका मन हल्का करने के लिए उसको ऑफिस से बंक मरवाकर एक दो बार मूवी दिखाने ले गया। अब जब भी उसका भाई ऑफिस नहीं आता था हम खूब इधर -उधर घूमते थे, मेने उसको अपना रूम भी दिखाया और खाफी टाइम उसके सात स्पेंट किया , जब -२ उसका भाई ऑफिस नहीं आता था हम दोनों भी बंक मारके मूवी देखने निकल जाये करते थेय , जिसको देख कर बाकि हिन्दू लड़को की बहुत गांड जलती थी की उनकी ऐज की माल हिन्दू लड़की अपने से 9 साल बड़े मुस्लिम अंकल के सात घूमती हे।

  2. अब आप लोगो को ज्यादा बोर न करते हुए मे नेहा की चुदाई के बारे मे बताता हूँ , शिवम को किसी काम की वजह से १५ दिन के लिए सिटी से बहार जाना पड़ा इसलिए वो ऑफिस की पूरी जिमेदारी मुज पर छोड़कर निकल गया। उसके जाते ही मेने नेहा को अपने घर न रुककर उसकी मौसी के यहाँ रुकने के लिए राजी कर लिया(उसका घर ऑफिस से खाफी दूर हे)। अब पहले ही दिन मे नेहा को उसकी मौसी के घर से बाइक पर लेके ऑफिस के लिए निकल पड़ा और रास्ते मे एक मेडिकल स्टोर से नेहा की नज़रे बचाके कंडोम और आईपिल के कुछ पैकेट खरीद लिया , क्यूंकि आज मे उसको चोदने का पक्का मन बना चूका था , मेने उसको रस्ते मे चाय -काफी पिलाई और ऑफिस न लेजाकर सीधा अपने रूम ले आया वो पहले भी ऑफिस टाइम मे वहां आ चुकी थी इसलिए उसको कुछ भी ओड नहीं लगा। मेने रूम का दरवाजा अंडर से लोक कर दिया , फिर वो और मे बैठके टीवी देखने लगे और इधर उधर की बाते करने लगे , आज उसने रेड टी-शर्ट और ब्लू जीन्स पहन राखी थी जिसमे वो खाफी लग रही थी , मे उससे बिलकुल सत्कार बैठा था , थोड़ी देर टीवी देखने के बाद मेने उसको कहा की नेहा चलो न आज कुछ तूफानी करते हैं , तो उसने कहा की आपका इरादा क्या हैं , तो मेने उसके कान मे आराम से कहा की नेहा मे तुम्हारे सात सेक्स करना चाहता हूँ, उसने कुछ बोलने के लिए अपने होंट खोले ही थे की मे तुरंत उनको अपने होंटो मे जकड लिया उसने जैसे ही विरोध जताने के लिए पीछे हटने की कोसिस की मेने उसको तुरंत कंधो से पकड़र बीएड पर लेता दिया , इस बीच मेने उसके रसीले होटो चूसना चालू रखा , अब वो पूरी तरह से मेरे निचे थी और बिलकुल भी हिलडुल नहीं सकती थी (नेहा मेरे सामने बिलकुल बची लगती हे , उसकी हाइट 5 फ़ीट और वजन 45 किलो हे , जबकि मेरी हाइट 6 .10 और वजन 85 किलो हे ), मुझको चुदाई का खाफी एक्सपीरियंस था और अच्छे से मालूम था की ऐसी जवान लड़की को कैसे काबू मे किया जाता हे। मेने उसके होंटो को चूसना चालू रखा और टी-शर्ट के ऊपर से उसके छोटे-2 बूब्स दबाने लगा थोड़े देर में वो भी लम्बी -२ सांसे लेने लगी तो मेने किसिंग बंद करके तुरंत उसके होटो पेय हाथ रखा और कहा की नेहा मे तुमको खाफी समय से पसंद करता हूँ , और हमेशा से तुम्हे अपना बनाना चाहता हूँ , प्लीज आज मुझको रोकना मत , आज मे तुम्हारे सरीर को बिना कपड़ो के देखना चाहता हूँ आज मे तुम्हे भोग़ना चाहता हूँ , मेरे इतना बोलते ही उसने आँखे चुखा ली , जिसको मेने उसकी हाँ समझा और मेने फिर से उसके गुलाबी होतो को चूसना चालू कर दिया , उसके होटो को चूसते -२ ही मेने अपना एक हाथ उसकी टी-शर्ट मे दाल दिया , उसने नीच ब्रा पहन राखी थी इसलिए उसके बूब्स का ज्यादा मजा नहीं ले पा रहा तो मेने उसके हॉट छोड़ दिए और मे बैठकर उसकी टी-शर्ट उतरने लगा तो उसने मेरे हाथ पकड़ लिए और बोलने लगी की अयाज़ सर रहने दीजिये न मेने ये सब पहले कभी नहीं किया, मेरी फ्रेंड बोलती हैं की पहली बार बहुत दर्द होता हे , मेने पूछा की अपने बॉयफ्रेंड के सात कुछ नहीं की हो, तो नेहा बोली की सर किसिंग के अलावा कुछ करने का मोखा ही नहीं मिला , मेरी तो बांछे ही खिल गयी की बेहेनचोद आज तो बड़े दिनों मे कुंवारा माल मिला हैं चोदने के लिए , मेने उसे समझया की मे बहुत ही एक्सपेरिएनसेड बंदा हूँ और बड़े प्यार से करूँगा और तुमको थोड़ा सा भी दर्द नहीं होने दूंगा , थोड़ी देर सोचने के बाद उसने कहा की चलो सर जैसी आपकी इच्छा , कभी न कभी तो करना ही हे तो आज क्यों नहीं , उसका इतना बोलना था की मेने उसको कमर से पकड़कर गोद मे उठा लिया और जोरदार किश करने लगा वो मेरे से काफी छोटी थी इसलिए वो आराम से मेरी कमर मे पैर डालके लटकी हुयी थी और मे उसके रसिल होंट चूसे जा रहा था , फिर मेने उसको उसको दिवार से सटाकर उसके होंट चूसने लगा और उसकी टी-शर्ट को अपने हाथो से पकड़कर उतरने लगा , वो भी अब काफी खुल गयी थी इसलिए उसने भी अपने हाथ ऊपर उठकर टी-शर्ट निकलने मे मेरी मदद की अब वो ब्लैक कलर की ब्रा मे बड़ी सुन्दर लग रही थी , अब मे उसके गले से किस करते हुए निचे की और आने लगा और , उसकी ब्रा खाफी टाइट थी तो मेने उसका मुह दिवार की तरफ घुमा की खड़ा कर दिया और उसकी सुडोल कमर को चाटने लगा , उसकी कमर पेय किस करते-करते मेने उसकी ब्रा को झटके से खोल दिया और उसको अपनी तरफ गुम दिया वो अपने हाथो से अपने बूब्स को छुपाने की नाकाम कोसिस कर रही थी , मेने पड़े प्यार से उसके हाथो को उसके बूब्स से हटाया तो उसने शर्म के मर अपनी आँखे झुका ली , उसकी इस कातिल अदा ने मुझको घायल कर दिया , वो टॉपलेस बड़ी होंट लग रही थी उसके बूब्स बहुत अचे से मैंटैनेड थेय , और उसके सरीर पर एक भी बाल नहीं था , अपनी किस्मत पेय मे अंडर-ही -अंडर बड़ा खुश हो रहा था मेने ज्यादा टाइम वास्ते न करते हुए तुरंत उसके होंटो को फिर से चूसना स्टार्ट कर दिया और हाथ से उसके बूब्स भी प्रेस करने लगा अब मेरे से ज्यादा वेट नहीं किया जा रहा था तो मे उसको उठा के बीएड पेय ले आया और बड़े प्यार से बीएड पर लेटा दिया और फिर से उसके बूब्स चूसने लगा वो भी मेरे सर मे हाथ फेरकर मेरा साथ देने लगी। अब मे उसको धीरे -धीरे किस करते हुए निचे की और आने लगा और उसकी जीन का बटन खोलके उसकी टाइट जीन्स उतरने लगा उसने अपनी गांड ऊपर उठाकर मेरा सात दिया अब एक 21 साल की जवान लड़की मेरे सामने पैन्टी मे लेटी हुयी थी तो मेने ज्यादा टाइम न वास्ते करते हुयी पेंटी के ऊपर से ही उसकी उभरी हुयी चूत पर अपना हथेली रखकर प्रेस किया , मेरा ऐसे करते ही वो थरथरा उठी(सायद पहली बार किसी मर्द ने उसकी चूत को पेंटी के ऊपर से छुआ था ), अब मेने उसकी पतली सी पेंटी को पकड़कर उसके घुटनो तक उतार दिया , उसकी जवान बिना बालो वाली उभरी हुयी गुलाबी चूत की फांको को देखकर मे अपने आप को रोक नहीं पाया और उसकी कमर को अच्छे से पकड़कर उसकी चूत पर अपने होंट टिका दिया , मेरे ऐसा करने से उसने बहुत जोर से अपनी गांड उछाली , मे उसकी चूत मे को बहुत जोर से चूस रहा था , इसलिए वो बहुत ज्यादा मचल रही थी , मेने जैसे ही अपनी चीभ उसकी टाइट चूत की फांको मे डालके चाटने सुरु किया उसने मेरा सर उधर ही दबा लिया , और तुरंत ही ये बोलते हुए चढ़ गयी की सर और जोर से और जोर से चाटिये , कुछ हो रहा हे सर, झड़ने के तुरंत बाद वो तुरंत सांत पद गयी , अब थोड़ा रुका और जल्दी से अपना शर्ट , पेंट और बनयान उतरके सिर्फ़ अंडरवियर मे उसके ऊपर आके फिरसे उसके होंट चूसने लगा अब मेने उसके होंट चूसते -चूसते उसका एक हाथ पकड़कर अपने अंडरवियर मे डाल दिया , उसके कोमल हाथो का स्पर्श पाते ही मेरा लौड़ा पूरी तरह तनके खड़ा हो गया , अब मे अपना ज्यादा टाइम वास्ते न करते हुयी उसके होंटो को चूसना छोड़कर धीरे-धीरे निचे आना स्टार्ट कर दिया थोड़ी देर उसके बूब्स चुसके , उसकी नाभि चूसते हुए निचे आया और उसकी चूत का मुवावजा करने लगा मेने उसकी चूत की फांको को अलग करते हुए ऊँगली डालने का प्रयास किया तो वो चिहुक गयी तो मे ऊँगली करना बंद कर दिया , और फिर उसके ऊपर से उठकर से देसी तेल उठा लाया , वो देसी तेल थोड़ा मेने अपने लोडे पेय लगाया और थोड़ा उसकी चूत पेय लगाया , थोड़ा उसकी चुत मे भी लगाया पर ऊँगली ज्यादा अंडर तक नहीं डाली क्यूंकि मे उसकी चूत को अपनी ऊँगली से नहीं मुस्लिम लंड से खोलने की ठान चुका था , ओ भी खाफी देर से मुझको अपनी चूत पेय तेल लगते हुए देख रही थी और खाफी गरम हो चुकी थी , इसलिए जोर -2 सी बोल रही थी की अयाज़ सर जल्दी कुछ करोना अंडर बहुत आग लगी हे , अब मेने अपना लौड़ा उसकी चूत पेय टिकाया और थोड़ा रगड़ने लगा पांच मिनट तक रगड़ने के बाद जैसे ही झटका मारा वो तुरंत पीछे हो गयी और मेरा लौड़ा साइड मे फिसल गया ,मेने उससे कहा की नेहा डार्लिंग डरो मत मे तुमको कुछ नही होने दूंगा , फिर मेने साइड से एक तकिया उठा कर उसकी गांड के निचे लगा दिया जिससे उसकी चूत थोड़ी ऊपर आ गयी और थोड़ी सी खुल गयी , अब मे फिर से उसके ऊपर आ गया , इस बार मे चुकना नहीं चाहता था , तो मेने उसकी टांगो को मोड़के , उसके घुटनो के निचे से अपने हाथ निकालकर उसके ऊपर आ गया और उसकी चूत पर अपना लंड सेट करके उसके दोनों कंधो को पकड़ लिया अब वो बिलकुल भी नहीं हिल सकती थी , अब मेने अपना ८ इंच लम्बा और 2.5 इंच मोटा लंड उसकी चूत के अंडर सरकाना सुरु कर दियामेरा लंड आगे की साइड थोड़ा पतला हे तो सुपाड़ा आराम से अंदर जाना स्टार्ट हो गया वो अपना सर हिलता हुए बोली की सर रुक जाइए दर्द हो रहा हे , तो मे रुक गया और मेने उसको किश करना स्टार्ट कर दिया , जैसे ही वो थोड़ा नार्मल हुयी मेने उसके होटोंको कसके जकड लिया और जोर से एक धक्का मारा तो मेरा आधा लंड उसकी कुंवारी टाइट चूत को चीरता हुआ अंदर किसी चीज से टकराकर रुक गया , और वो ऐसे उछली जैसे कोई बिन पानी की मछली , उसकी आँखों से आंसुओ की धाराएँ बाह रही थी और वो छूटने के लिए पूरा हाथ – पैर मार रही थी पर वो छोटी सी लड़की के लिए एक मुस्लिम मर्द के निचे से छूट पाना बिलकुल मुस्किल था , उसकी लम्बी -लम्बी सांसे चल रही थी

Leave a comment

Your email address will not be published.


*