Stories

मैं मेरी मां और करीम पार्ट 2

दोस्तो आज में हाजिर हूं स्टोरी के दूसरे भाग को लेकर
चलो शुरू करते है

करीम सुधिया की हिन्दू चूत को अब और जोर जोर से चोदने लगा और सुधिया काकी मस्ती में सिसकारियां लेने लगी
मुझे अंधेरा होने होने की वजह से जड़ा ठीक से नहीं ढिखाई दे रहा था पर मुझे अंदाज़ा ही गया था कि करीम का लन्ड बहुत बड़ा है
करीम – तुम हिन्दू औरतों को चोदने का मज़ा ही कुछ और है ,बस एक बार हिन्दू औरतों को मुसलमान लंड का चस्का लगा दो फिर खूब मज़े से चुदवाती है
सुधिया – अब तुम्हारा मुसलमान लंड होता भी ऐसा ही है एक तो पहले ही बहुत बड़ा होता है ऊपर से उसपर कोई चमड़ी नहीं होती तो बहुत रगड़ रगड़ के जाता है और फिर तुमने चोदने की ताकत भी बहुत होती है,तुम घंटो चूत की चुदाई करके चटनी बना देते हो
करीम – हा हा तभी तो हिन्दू औरतें मुसलमानों को गुलाम बन जाती है
सुधिया- अहा अब तक कितनी औरतों को चोदा है तुमने
करीम – बहुत को चोदा है है मेरी हिन्दू रांड
सुधिया – फिर भी कुछ गिनती तो होगी
करीम — 100 के ऊपर
सुधिया- क्या बात कर रहे हो
करीम – हा मेरी रांड
सुधिया – तो उनमें से मधु देवी जैसी कितनी थी
करीम – मधु देवी की बात ही अलग है,उसका गद राया शरीर एक दम हुस्न की परी जैसा है ,बड़ी बड़ी चूचियां ,सपाट पेट जहा जरूरत से ज्यादा थोड़ी सी भी चर्बी नहीं और फिर भारी भारी मस्त सुडौल गांड और फिर एक परियो जैसा चेहरा
सुधिया -हा मधु देवी है तो एक दम करारा माल ,बेचारे गाव के लोग कोशिश कर कर के थक गए लेकिन मधु देवी कभी किसी के हाथ नहीं आई,शायद तुम्हारे हाथ आ जाए
करीम – लगता है तुम्हारे गाव में सारे नामर्द रहते है जो इतना मस्त माल को अभी तक कोई हासिल नहीं कर सका
सुधिया – मधु देवी किसी को भाव नहीं देती और फिर सब डरते भी है कहीं उच नीच ना हो जाए या फिर उससे लगता हो कोई उससे संभालने वाला मर्द ही नहीं है गाव में
करीम – शायद उसे मुसलमान लंड का इंतजार था
सुधिया – हा हो सकता है ऊपर वाला यही चाहता हो कि मधु देवी किसी मुसलमान मर्द से ही चुदे क्योंकि हो सकता है उसका शरीर ही इतना भारी है कि उससे संभालने के लिए एक बड़े लंड वाले आदमी की जरूरत है और तुम्हारा लंड तो ऐसा है की पूरे गाव में इतना बड़ा लंड नहीं है ऊपर तुम मुसलमान ठहरे तो तुम्हारे लंड के ऊपर चमड़ी भी नहीं है जो चुदाई के समय रगड़ रगड़ के अंदर बाहर होकर बहुत मज़ा देता है
करीम को चोदते चोदते डेढ़ घंटे से भी ऊपर हो गया था करीम ने एक दम से सुधिया की चूचियां पकड़ कर बेरहमी से चोदने लगा और 10 मिनट बहुत ही बेरहमी से चुदने के बाद सुधिया की हालत खराब हो जाती है और करीम अपना लन्ड निकाल कर सुधिया की चूचियों पर अपना वीर्य गिरा देता है
मुझे करीम का लन्ड देखकर विश्वास नहीं हुआ कि किसी का इतना बड़ा लंड भी हो सकता है ,करीम का लन्ड 13 इंच लम्बा और 3.5 इंच मोटा था और उसके लन्ड से सुपाड़े पर कोई चमड़ी नहीं थी उसका सुपाड़ा बहुत मोटा लग रहा था ,उसका लन्ड देख यू लग रहा था जैसे एक काला भयानक साप हो,जो किसी भी चूत और गांड में जाने के लिए तैयार था और मेरा 6 इंच का था और 2 इंच मोटा था जो करीम के काले भयानक मुसलमानी लंड की तुलना में बहुत छोटा लग रहा था
करीम का लन्ड सुधिया की हिन्दू चूत के रस से चमक रहा था और इतनी देर चुदाई के बाद भी उसका लन्ड अभी भी खड़ा था
पता नहीं क्यों लेकिन इतना मोटा लंड देखने के बाद मेरे मन में भी इच्छा हो गई कि में अपनी मां को करीम से चुदता हुआ देखू,में देखना चाहता था कि की मेरी मा की हालत कैसी होगी जब करीम मा को चोदेगा और दूसरी बात ये भी थी कि शायद में अपने 6 इंच के लंड से मा को संभाल ना पाऊ मा के लिए तो करीम का 13 इंच का बिना चमड़ी वाला मुसलमानी लन्ड ही होना चाहिए
करीम – चल तूने जैसा कहा था मैने तुझे आराम से चोदा लेकिन अब मेरी गान्ड चाट और करीम घोड़ी बन गया और सुधिया उसके पीछे आकर अपनी जी निकाल कर करीम की गांड़ चाटने लगी
करीम – आह ,मज़ा आ गया हिन्दू औरतों से गांड चटवा कर जो मज़ा आता है वो किसी और में नहीं आता,ढंग से चाट साली रांड ,अपनी जीभ डाल गांड में
सुधिया को करीम जैसे गंदे भद्दे आदमी की गांड़ चाटते देख में बहुत उत्तेजित हो गया और मेरा पानी निकल गया
करीम – और जोर से चाट ,और साथ में मेरा लन्ड भी हिला और मेरी गोटिया भी चाट
सुधिया – तो तुम मधु देवी से भी अपनी गांड चटवाओगे
करीम – मुसलमान लोग हिन्दू औरतों पर रहम नहीं करते उसको तो और रगड़ रगड़ के चोदुगा और तुझसे भी जादा देर तक गांड चटवाउगा चल अभी तो तू बस गांड चाट ढंग से ,बिल्कुल साफ होनी चाहिए नहीं तो यही पटक कर बिना थूक लगा कर गांड मार देगा
बेचारी सुधिया जो करीम कह रहा था वो कर रही थी ,सुधिया करीम का घोड़े जैसे लंड हिलाने लगी और उसकी गान्ड चाटने लगी
15 मिनट तक ये सब चलता रहा
थोड़ी देर बाद जब करीम ने सुधिया को गांड चाटने से रुकने को कहा तो करीम बोला और मेरी हिन्दू रांड कैसा लगा एक मुसलमान की गांड़ चाटकर
सुधिया – बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगा ,पता नहीं तुम्हें क्या मज़े आते है अपनी गांड़ चटवा कर,अगर तुमसे चुदना नहीं होता तो में ये कभी नहीं करती
करीम – अरे मेरी हिन्दू रांड तू तो नाराज़ होने लगी ,देख ये मज़ा सिर्फ मुसलमान ही महसूस कर सकते है जब कोई हिन्दू औरत उनकी गांड़ चाट ती है और जानता हूं ये सब वो मजबूरी में करती है नहीं तो कोई क्यों किसी की गांड़ चाटेगी और लेकिन वो तो हमारा मुसलमानी लंड है जो उनको इस कदर मजबूर कर देता है बेचारियों के पास कोई रास्ता भी नहीं होता सिवाए मुसलमानों की बात मानने का,क्या करे जब वो हिन्दुओं के 5-6 इंच के लंड से चुदने के बाद जब वो मुसलमानों के 12- 13 इंच के लंड से चुदती है तो फिर उनकी आग एक मुसलमान ही शांत कर सकता है बस इसी का हम फायदा उठाते है और सच कहूं तू हमें हिन्दू औरतों को जलील करने में बहुत मज़ा आता है और जब हिन्दू और मजबूती में हमारी गांड चाट ती है तो बहुत मज़ा आता है
लेकिन तू चिंता मत कर तुझे भी इस सब की बहुत जल्दी आदत हो जाएगी और फिर तू भी खुल कर मुसलामनो से चुदवाया करेगी
सुधिया – तुम सच में बहुत जलिल करते हो ,कभी कभी तो मन होता है कि तुमसे चुदवाई नहीं लेकिन फिर तुम्हारा ये मुसलामनी लंड मुझे मजबूर कर देता है,लेकिन एक बात है अगर तुम मधु देवी को चोदोगे तो कोई रहम मत करना ,में देखना चाहती हूं कि तुम उसका गद्रया शरीर कैसे निचोड़ते हो
करीम – हा ,कभी में में मधु देवी को चोदू तो तू खुद देख लेना अगर इस मुसलमानी लंड से उसकी चूत गांड सुजा नहीं दी और उसको रुला रुला कर नहीं चोदा तो में मुसलमान नहीं
सुधिया – सच में मेरे सामने मधु देवी की हालत पर मुझे बहुत मज़ा आएगा ,साली बहुत गांड मटका मटका कर चलती और बहुत अकड़ के चलती है
सुधिया लेती हुई अपनी चूत की हालत को देखती है जो करीम के मुसलमानी लंड से चुदने के बाद बुरी हालत में थी “” देखो करीम तुम्हारे लंड ने मेरी चूत की क्या हालत कर दी””
करीम – ये मुसलमानी लंड बना ही चूत गांड की ऐसी हालत करने के लिए है,वो तो में तुझे आराम से चोद रहा था नहीं तो तेरी हालत तो और बुरी कर देता
सुधिया – तुम कितने कुश क़िस्मत हो जो तुम्हे और चोदने के लिए मिल जाती है और तुम इन्हें रगड़ रगड़ के चोदते हो
करीम – इसका कारण भी तुम्हारे पति लोग ही है जो रात को दारू पी कर सो जाते है और उनकी पत्नियां चुदाई की आग में जलती रहती है और उन औरतों को पटना बिल्कुल भी मुश्किल नहीं
सुधिया – अच्छा करीम एक बात बताओ ,तुम्हारी कोई ख्वाहिश है क्या जो तुम पूरी करनी चाहते ही
करीम — हा 2 ख्वाहिश है मेरी एक तो कच्ची कली की चूत फाड़ना और एक औरतों को उसके बेटे से सामने चोदना
सुधिया – मतलब तुम एक कुंवारी लड़की की चूत फाड़ना चाहते हो और एक मां को उसके बेटे के सामने चोदना चाहते हो, कुंवारी लड़की तो मिल भी जाए लेकिन ऐसा बेटा कहा मिलेगा जो अपनी मां को अपने सामने तुमसे चुदवाए
करीम – मिलेगा जरूर मिलेगा ,आज कल के बेटे अपनी माओ को किसी मोटे लंड से चुदने के कुछ भी कर देते है ,में सोच रहा हूं क्यों ना रामू को इस बात के लिए राज़ी करे की वो अपनी मां को अपने सामने मुझसे चुदवाए
सुधिया – तुम मधु देवी को रामू के सामने चोदोगे ,भूल जाओ ,वो ऐसा कभी नहीं होने देगा
करीम – होगा जरूर होगा,बस हमें जरूरत है तो उससे एक चूत देने की ,वो अभी बच्चा है उससे नहीं पता मां की चूत और दूसरे औरतों की चूत में क्या फर्क है,उससे अभी आराम से गुमराह कर सकते है
सुधिया – वो कैसे
करीम – कुछ नहीं तुम्हें उससे चुदना होगा और उससे बार बार बातो में ये यकीन दिलाना होगा कि उनकी मां को चुदाई की जरूरत है और शरीर इतना भारी है कि उससे बड़ा लंड ही चाहिए और तुम उसके लन्ड कि बुराई करते रहना की ये लंड से तो कुछ भी ना हो
सुधिया – फिर
करीम – फिर एक दिन वो जरूर पूछेगा की कोन का इंसान सही रहेगा
सुधिया – फिर
करीम – फिर बोलना की करीम ही सबसे सही रहेगा वो जादा दिन गाव में रुकेंगे भी नहीं तो बदनामी का डर नहीं होगा और शायद वो तेरी मां को तुझसे चुदने के लिए राज़ी भी कर जाए
सुधिया – तुम बहुत कमीने हो बेचारे बेटे को उसकी मां का लालच देकर उससे के सामने उसकी मा को रगड़ रगड़ के चोदोगे
करीम – यही तो मेरी इच्छा है
सुधिया – बेचारा रामू ,उससे तो पता ही नहीं होगा कि उससे सामने उसकी मां की रगड़ रगड़ के चुदाई होने वाली है
करीम – अरे सुधिया वो खुद मज़े लेगा ,आजकल के बच्चे अपनी मा को बड़े लंड से चुदता हुआ देखना चाहते है,और वो खुद लंड हिलाएगा अपनी मां को मेरे मुसलमानी लंड से चुदते हुए देखकर
सुधिया – तुम उस बेचारे की मां को रगड़ रगड़ के चोदोगे तो उस बेचारे को भी उसकी मां दिला देना
करीम – हा ,में रामू को उसकी मां जरूर दिलाऊंगा बस एक बार में मधु देवी को जी भर चोद लू

सुधिया – अब सुबह होने वाली है ,मुझे निकालना चाहिए
करीम – हा निकाल जाना एक बार मेरे पानी निकाल जा,आज मधु देवी की बात करते करते लंड में फिर से जोश आ आया
सुधिया – मधु और तुम्हारे चक्कर में मेरी हालत खराब हो रही है,अब जल्दी से मधु देवी को तुमसे चुदवाना होगा तभी मुझे आराम आएगा
और फिर सुधिया करीम का लन्ड चूसने
लगती है और में भी अपने खेतों की तरफ निकल जाता हूं
करीम और सुधिया की मेरी मा के बारे में बात सुनकर मेरा लन्ड अकड़ जाता है और में झट से झाड़ियों में जाकर करीम और मा की चुदाई की कल्पना करते हुए मुठ मारने लगता हूं,कुछ समय मूठ मारने के बाद मेरा पानी निकाल जाता है ,और आज सच में इतना मज़ा आया था जितना कभी मूठ मारने में नहीं आया ,मुझे खुद विश्वास नहीं हो रहा था कि में करीम और मा की चुदाई की कल्पना करते हुए मुठ मारने में इतना मज़ा आएगा शायद में भी यही चाहता था कि मेरी मा करीम से बुरी तरह चुदे और करीम और सुधिया की चाल जानता था कि कैसे वो मेरे जरिए मा को फसाएगे और में खुद चाहता था कि मेरी मा की चुदाई करीम से जल्दी से हो और में मेरी मा की दमदार चुदाई देख सकू ,अब में उनके जाल की इंतज़ार कर रहा था

email me for suggestion and chatting
[email protected]

11 thoughts on “मैं मेरी मां और करीम पार्ट 2

  1. Sala, Zindagi bhar jis maa ko sahi aurat manta rha wo laude k liye randi ban jaye ye to bhagwan ne bhi nhi socha hoga. Meri maa ko mulle ke sath dekhna meri zindagi ka sabse bada turing point rha hai. aaj bhi wo scene soch k kaanp jata hoon, but maza bhi aata hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *